आईवीएफ और इनफर्टिलिटी


मणिपाल हास्पिटल को बांझपन और प्रजनन समस्याओं के उपचार के लिए देश में सबसे अच्छे प्रजनन केंद्रों में से एक के रूप में व्यापक रूप प्रशंसा प्राप्त होती रही। हम आईवीएफ का उपचार प्राप्त करने वाले संवेदनशील रोगियों के साथ व्यवहार करते समय सावधानी रखने की आवश्यकता को समझते हैं और हमारे विशेषज्ञ रोगियों के लिए सर्वोत्तम सहायता सेवाएं प्रदान करने का प्रयास करते हैं।

OUR STORY

Know About Us

Why Manipal?

हम अपने रोगियों को अपनी उपचार प्रक्रिया के दौरान अपने काम में साझेदार बनाकर व्यवहार करते हैं क्योंकि हम समझते हैं कि सफल प्रजनन उपचार पाने के लिए रोगियों का समुचित जानकारी से सम्पन्न होना और उन्हें सटीक रूप से सहयोग समर्थन प्राप्त होना इस प्रक्रिया की सफलता का सबसे अच्छा तरीका है। मणिपाल में, हम पारस्परिक सम्मान और विश्वास के आधार पर स्थापित पारदर्शी और नैतिक प्रथाओं का पालन करते हैं। हम ऐसे माहौल को बढ़ावा देते हैं जहां रोगियों द्वारा प्रश्न पूछे जाने को प्रोत्साहित किया जाता है। हमारे विशेषज्ञ प्रत्येक रोगी के लिए व्यक्तिगत रूप से निर्धारित किया गया सर्वोत्तम पैकेज प्रदान करने की दिशा में काम करते हैं।

Treatment & Procedures

इनफर्टिलिटी वर्कअप

हमारे फर्टिलिटी विशेषज्ञ बांझ दंपति के लिए आरम्भिक तैयारी पर पूरा ध्यान देते हैं क्योंकि ऐसा करने पर ही उस विशिष्ट दम्पत्ति के लिए सही प्रकार के प्रजनन उपचार का ठीक से आकलन करना और चयन करना संभव हो पाता है।

Read More

अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान

आईयूआई का उपयोग कमजोर शुक्राणुओं से मजबूत शुक्राणुओं को चुनकर बाहर निकालने के लिए किया जाता है और फिर इन्हें धोया जाता है और अंडोत्सर्ग (ओव्यूलेशन) अवधि के दौरान महिला के गर्भाशय में रखा जाता है।

Read More

आईवीएफ

टेस्ट ट्यूब बेबी बनाने के लिए परखनली में फर्टिलाइजेशन किया जाता है। इस प्रक्रिया के दौरान, महिला के अंडाशय से अंडे निकाले जाते हैं हैं और उन्हें कृत्रिम रूप से उपयुक्त वातावरण में विकसित किया जाता है।

Read More

इंट्रासाइटोप्लाज्मिक शुक्राणु…

हमारे विशेषज्ञ आईसीएसआई तकनीक का उपयोग करते हैं जिसमें केवल एक शुक्राणु को निषेचन के लिए सीधे अंडे में इंजेक्ट किया जाता है, जिसके बाद भ्रूण (निषेचित अंडा) को महिला के गर्भ में स्थानांतरित कर दिया जाता है।

Read More

सोनोग्राफी

अल्ट्रासाउंड या सोनोग्राफी ऐसी तकनीक है जो शरीर के भीतर की संरचनाओं की छवियों को प्रदर्शित करने के लिए उच्च आवृत्ति वाली ध्वनि तरंगों का उपयोग करती है। जहां परीक्षण किया जाना होता है उस क्षेत्र में त्वचा पर एक जेल लगाया जाता है ।

Read More

लैप्रोस्कोपी और हिस्टेरोस्कोपी

अत्याधुनिक तकनीक के माध्यम से, सूक्ष्मता और सटीकता के साथ न्यूनतम इनवेसिव सर्जरी करना संभव है।

Read More

लेजर असिस्टेड हैचिंग

इस प्रक्रिया में, स्तनपायी प्राणियों के संपुटित युग्मक (मैमेलियन ऊसाइट ) की प्लाज्मा झिल्ली के चारों और पायी जाने वाली ग्लाइकोप्रोटीन परत को एक एनोडाइन लेजर के माध्यम से क्षीण करके थोड़ा-सा खोला जाता है।

Read More

ब्लास्टोसिस्ट कल्चर एंड ट्रांसफर

इस तकनीक में निषेचन प्रक्रिया के बाद और गर्भ में स्थानांतरित किए जाने से पहले, लगभग 4 से 6 दिनों तक प्रयोगशाला वातावरण में भ्रूण का विकास किया जाता है।

Read More

क्रायोप्रिजर्वेशन

इस तकनीक में, अंडे, भ्रूण और शुक्राणु को शून्य से कम तापमान पर फ्रीज किया जाता है ताकि भविष्य में उनकी आवश्यकता होने तक उन्हें संरक्षित किया जा सके।

Read More

पहला सफल आईवीएफ जन्म 1978 में हुआ था, और तब से, चिकित्सा प्रगति ने इसे बांझपन पर विजय प्राप्त करने के सबसे सफल विकल्पों में से एक बना दिया है। आईवीएफ से 8 मिलियन से अधिक बच्चे पैदा हुए हैं। मणिपाल हास्पिटल का आईवीएफ और फर्टिलिटी विभाग पूरी तरह सुसज्जित फर्टिलिटी क्लिनिक है जिसमें बांझपन का सफल उपचार करने के लिए उपयोग की जाने वाले नवीनतम उपकरण और तकनीकों की व्यवस्था की गई है। मणिपाल हॉस्पिटल्स अपने मरीजों को उच्च-गुणवत्तापूर्ण, व्यक्तिगत उपचार प्रदान करने और उनके साथ दीर्घकालिक साझेदारी बनाने के दृष्टिकोण से उन्हें अपनी सर्वोत्तम सेवा प्रदान करने लिए समर्पित रहकर कार्य करता है। हमारा आईवीएफ और फर्टिलिटी विभाग और उससे लाभान्वित हुए रोगी इसके प्रमाण हैं।

Facilities & Services

हम सभी प्रकार की प्रजनन समस्याओं के लिए विभिन्न प्रकार की सेवाएं प्रदान करते हैं। मणिपाल में उपलब्ध कुछ नवीनतम तकनीकी सेवाएं इस प्रकार हैं: - उन्नत इन-हाउस आईवीएफ लैब - स्पेशलिटी सर्जरी सेंटर - एग फ्रीजिंग - रिसर्च एंड क्लिनिकल ट्रायल - सरोगेसी और एग डोनेशन - असिस्टेड हैचिंग - प्रीइम्प्लांटेशन जेनेटिक डायग्नोसिस - इंट्रासाइटोप्लास्मिक स्पर्म इंजेक्शन – यात्रा के बाद संक्रमण की संभावना का आककन करना - उन्नत निदान (जटिल मामलों के लिए) - रक्त परीक्षण - मूत्र परीक्षण – कल्चर परीक्षण - इम्यूनोलॉजिकल (एंटीबॉडी और एंटीजन) परीक्षण - माइक्रोस्कोपी - इमेजिंग-एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, सीटी और एमआरआई स्कैन

FAQ's

An assigned specialist gathers general information about the patient’s health, medical history and various physical examinations are conducted. Based on their findings, further diagnosis or treatment is recommended.

Low sperm count, ovulation issues, endometriosis, issues with uterus or fallopian tubes, inability of sperm to penetrate the cervical mucus, poor quality of egg, genetic disease or any other unexplained fertility problems. Visit our ivf and infertility hospital in Old Airport Road Bangalore to know more about the causes and diagnosis.

The first step involved injecting hormones so you can produce multiple eggs every month instead of one. Later, testing is done to determine if the egg is ready for retrieval.

Success rates depend on many factors such as the reason for infertility itself. Age is also an important factor. Visit our best infertility center in Old Airport Road, Bangalore to consult with our experts.

Embryos that aren’t used during the first IVF attempt are frozen and can be used later. This saves you money if you are to undergo a second or third attempt. Unwanted embryos can be donated.

आईवीएफ और फर्टिलिटी के बारे में अधिक जानने के लिए हमसे संपर्क करें और आज ही हमारे किसी विशेषज्ञ के साथ अपॉइंटमेंट बुक करें।

Explore Stories

Homecare icon अपॉइंटमेंट
Homecare icon स्वास्थ्य जांच
Homecare icon होम केयर
हमसे संपर्क करें
सीओओ को लिखें
review icon हमारी समीक्षा करें
हमें कॉल करें