रेडियोलॉजी


मणिपाल हॉस्पिटल का रेडियोलॉजी विभाग नवीनतम तकनीकी प्रगति और असाधारण कुशल कर्मचारियों से सुसज्जित है जो रोगियों को सटीक निदान और रेडियोलॉजिकल सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

OUR STORY

Know About Us

Why Manipal?

  • मणिपाल देश के अग्रणी स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं में से एक है और इसे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त है। 
  • मणिपाल   हॉस्पिटल द्वारका के रेडियोलॉजी विभाग में अत्याधुनिक उपकरण (3-टेस्ला डिजिटल एमआरआई, 128-स्लाइस एमडीसीटी, समर्पित प्रसूति इकाई के साथ 3डी/4डी अल्ट्रासाउंड, डिजिटल रेडियोग्राफी, मैमोग्राफी और बीएमडी) हैं। 
  • 24 x 7 डायग्नोस्टिक और इंटरवेंशनल रेडियोलॉजिकल सपोर्ट। 
  • अत्यधिक योग्य और अनुभवी रेडियोलॉजिस्ट की समर्पित टीम जो डायग्नोस्टिक और इंटरवेंशनल कोशलों से संपन्न हे। यदि आप द्वारका, दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ रेडियोलॉजी   हॉस्पिटल की खोज कर रहे हैं तो मणिपाल   हॉस्पिटल ऐसा ही एक सुपर स्पेशियलिटी   हॉस्पिटल है जो उन्नत रेडियोलॉजी और इमेजिंग सेवाएं प्रदान करता है। 
     

Treatment & Procedures

एंजियोप्लास्टी और स्टेंटिंग

रेडियोलॉजी विभाग स्टेंटिंग या एंजियोप्लास्टी जैसी प्रक्रियाओं के लिए इमेजिंग सेवाएं प्रदान करता है। इन प्रक्रियाओं में बंद धमनियों में एक कैथेटर डाला जाता है। कैथेटर के साथ धमनी को खोलने के लिए एक छोटा गुब्बारा भी लगा होता है, जिसके द्वारा रक्त प्रवाह खोला जाता है।

Read More

ਐਂਜਿਓਪਲਾਸਟੀ ਅਤੇ ਸਟੰਟਿੰਗ

ਇਸਨੂੰ ਪਰਕਿਊਟੇਨੀਅਸ ਕੋਰੋਨਰੀ ਇੰਟਰਵੈਂਸ਼ਨ (ਪੀ.ਸੀ.ਆਈ) ਵੀ ਕਿਹਾ ਜਾਂਦਾਂ ਹੈ, ਐਂਜੀਓਪਲਾਸਟੀ, ਕੋਰੋਨਰੀ ਧਮਨੀਆਂ (ਦਿਲ ਨੂੰ ਸਪਲਾਈ ਕਰਨ ਵਾਲੀਆਂ ਖੂਨ ਦੀਆਂ ਨਾੜੀਆਂ) ਨੂੰ ਖੋਲ੍ਹਣ ਲਈ ਵਰਤੀ ਜਾਂਦੀ ਇੱਕ ਪ੍ਰਕਿਰਿਆ ਹੈ ਜੋ ਐਥੀਰੋਸਕਲੇਰੋਸਿਸ (ਫੈਟੀ ਪਲੇਕ ਗਠਨ) ਕਾਰਨ ਤੰਗ, ਬੰਦ, ਜਾਂ ਬਲੌਕ ਹੁੰਦੀਆਂ ਹਨ। ਐਂਜੀਓਪਲਾਸਟੀ ਸੀਨੇ ਵਿੱਚ ਖੂਨ ਦੇ ਪ੍ਰਵਾਹ ਕਾਰਨ ਹੋਣ ਵਾਲੇ ਦਰਦ ਨੂੰ ਘਟਾਉਣ ਅਤੇ ਦਿਲ ਦੇ ਦੌਰੇ ਤੋਂ ਦਿਲ ਨੂੰ ਹੋਣ ਵਾਲੇ…

Read More

स्पाइडर / वैरिकाज़ शिरा उपचार

वैरिकाज़ शिराएं, पैरों में शिराओं और वाल्वों के कमजोर होने का एक लक्षण हैं। इनमें एक तरफा वाल्व होते हैं जो रक्त को पैरों से ऊपर की ओर हृदय की दिशा में प्रवाहित करते रहते हैं। जब ये वाल्व ठीक से काम नहीं करते हैं, तो पैरों में रक्त जमा हो जाता है और दबाव बन जाता है। नतीजतन, शिराएं फूली हुई, मुड़ी हुई और कमजोर हो जाती हैं। इस स्थिति के लिए लेजर एब्लेशन…

Read More

एंजियोप्लास्टी और स्टेंटिंग

परक्यूटेनियस कोरोनरी इंटरवेंशन (पीसीआई), जिसे एंजियोप्लास्टी के रूप में भी जाना जाता है, कोरोनरी धमनियों (हृदय को आपूर्ति करने वाली रक्त वाहिकाओं) को खोलने के लिए उपयोग की जाने वाली एक प्रक्रिया है जो एथेरोस्क्लेरोसिस (वसायुक्त प्लैक निर्माण) के कारण संकुचित, बंद या अवरुद्ध होती है। एंजियोप्लास्टी सीमित रक्त प्रवाह के कारण सीने में दर्द को कम करने…

Read More

बायोप्सी

बायोप्सी में रोग की उपस्थिति का निदान करने के लिए ऊतक के छोटे नमूनों या कोशिकाओं को निकाला जाता है। यह आम तौर पर एक आउट पेशेंट प्रक्रिया होती है और इसमें तैयारी की जरूरत न्यूनतम होती है।

Read More

नॉन सर्जिकल कैंसर उपचार

मणिपाल हॉस्पिटल के इंटरवेंशनल रेडियोलॉजिस्ट कैंसर रोगियों के इलाज में मदद के लिए ऑन्कोलॉजी विभाग के साथ मिलकर काम करते हैं। उपयोग की जाने वाली कुछ सामान्य प्रक्रियाओं और उपचारों में शामिल हैं आईआरई, प्री-ऑपरेटिव एम्बोलाइज़ेशन, परक्यूटेनियस इंटरवेंशन रेडियोफ्रीक्वेंसी एब्लेशन या ट्रांसएर्टियल केमो-एम्बोलाइज़ेशन (टीएसीई) या ट्रांसएर्टियल रेडियो-एम्बोलाइज़ेशन…

Read More

सीटी इमेजिंग

रोगी के शरीर के आंतरिक अंगों की तस्वीरें लेने के लिए एक्स-रे के उपयोग के साथ-साथ सीटी स्कैन भी किया जाता है।

Read More

परिधीय धमनी रोग

यह एक सामान्य स्थिति है जो आमतौर पर एथेरोस्क्लेरोसिस का परिणाम होती है जो घाव के निशान और कोलेस्ट्रॉल जमाव वाले लोगों को प्रभावित करती है। इसका उपचार मुख्य रूप से कैथेटर-निर्देशित थ्रोम्बोलिसिस, एंजियोप्लास्टी और स्टेंटिंग और कैथेटर असिस्टेड थ्रोम्बेक्टोमी द्वारा किया जाता है।

Read More

डीप वेन थ्राम्बोसिस

रक्त के थक्कों को थ्रोम्बस कहा जाता है जो गहराई में पाई जाने वाली पैर की शिराओं में उत्पन्न होते हैं और इनके कारण गंभीर स्थायी क्षति हो सकती है जिसे पोस्ट-थ्रोम्बोटिक सिंड्रोम कहा जाता है। इससे पल्मोनरी एम्बोलिज्म भी उत्पन्न हो सकता है जो जीवन के लिए खतरा होता है। इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी इस स्थिति का उपचार आईवीसी फिल्टर, कैथेटर असिस्टेड थ्रोम्बेक्टोमी…

Read More

डायलिसिस एक्सेस

गुर्दे की विफलता या क्रोनिक किडनी रोग से पीड़ित रोगियों को रिप्लेसमेंट थेरेपी से गुजरना होगा, जो डायलिसिस के रूप में होती है। The इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी विभाग एवी फिस्टुला सैवेज (एंजियोप्लास्टी के माध्यम से), सेंट्रल वेन एंजियोप्लास्टी या स्टेंटिंग, पर्म कैथेटर प्लेसमेंट, पेरिटोनियल डायलिसिस (कैथेटर प्लेसमेंट) जैसे उपचार प्रदान करता है।

Read More

एमआरआई

एमआरआई से शरीर के ऊपरी और निचले हिस्सों में कई रोगों का पता लगाया जाता है। इसमें शरीर की आंतरिक संरचना की छवियों का निर्माण करने के लिए रेडियो तरंगों से संयुक्त शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र का उपयोग किया जाता है। इसमें इनमें हड्डियों, अंगों और कोमल ऊतकों की चिकित्सा की जाता है।

Read More

पल्मोनरी एम्बोलिज्म

फेफड़ों की प्रमुख धमनियों में अचानक रुकावट रक्त के थक्कों के कारण होती है। इन थक्कों से फेफड़े क्षतिग्रस्त हो सकते हैं। इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी कैथेटर-निर्देशित थ्रोम्बेक्टोमी / थ्रोम्बोलिसिस के रूप में उपचार प्रदान करती है।

Read More

न्यूक्लियर मेडिसिन एक्जाम (परमाणु…

कुछ मामलों में, नियमित रेडियोलॉजी जांच रोगी के शरीर के आंतरिक भाग की एक विशिष्ट छवि प्राप्त करने में सक्षम नहीं होती है और ऐसे में परमाणु चिकित्सा जाच काम में आती है। इस प्रकार की जांचों में आवश्यक छवियों को प्राप्त करने के लिए एक विशेष कैमरे के साथ गामा किरणों का उपयोग किया जाता है।

Read More

पोर्टल उच्च रक्तचाप के लिए टिप्स…

टिप्स (TIPS) एक ट्रांसजुगुलर इंट्राहेपेटिक पोर्टोसिस्टमिक शंट प्रक्रिया है जिसका उपयोग सिरोसिस के रोगियों के अन्नप्रणाली या पेट में आंतरिक रक्तस्राव के इलाज में किया जाता है। यकृत में पोर्टल और यकृत शिरा को जोड़ने की प्रक्रिया के दौरान इमेजिंग का उपयोग किया जाता है। धातु का बना एक उपकरण जिसे स्टेंट के नाम से जाना जाता है कनेक्शन को खुला रखेगा, जिससे…

Read More

ट्यूमर एब्लेशन थेरेपीज

इस थेरेपी में कैंसर के ट्यूमर के इलाज के लिए ठंडे, गर्म या रासायनिक एजेंटों का उपयोग शामिल है। मणिपाल हॉस्पिटल का रेडियोलॉजी विभाग ट्यूमर के उन्मूलन के लिए क्रायोथेरेपी और माइक्रोवेव के उपयोग में माहिर है।

Read More

यूटेराइन फाइब्रॉएड एम्बोलिज़ेशन

यूटेराइन फाइब्रॉएड एम्बोलिज़ेशन का उपयोग गर्भाशय में फाइब्रॉएड ट्यूमर के इलाज में किया जाता है। फ्लोरोस्कोपी (एक्स-रे इमेजिंग) का उपयोग करके एक कैथेटर को धमनी के माध्यम से गर्भाशय तक पहुँचाया जाता है। यह एक न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रिया है और यह फाइब्रॉएड ट्यूमर के कारण होने वाले दर्द को कम करने में अत्यधिक प्रभावी है जो आमतौर पर मासिक धर्म के रक्तस्राव…

Read More

वायर लोकलाइज़ेशन (स्तन बायोप्सी)

यदि मैमोग्राम के बाद स्तन में असामान्यताओं का पता लगता है, लेकिन शारीरिक रूप से इसका पता नहीं लग सकता है, तो स्तन में गाँठ के अधिक सटीक निदान के लिए डॉक्टर द्वारा ऊतक के नमूने प्राप्त करने के लिए सुई द्वारा डाले गए एक पतले तार का उपयोग किया जाता है।

Read More

एक्स-रे या रेडियोग्राफ

शरीर के आंतरिक क्षेत्रों की छवियों को प्राप्त करने के लिए एक्स-रे का उपयोग किया जाता है। इससे डॉक्टरों को सटीक निदान करने में मदद मिलती है।

Read More

.

Facilities & Services

इंटरवेंशनल सेवाएं 

(1) नैदानिक प्रक्रियाएँ

●    छवि-निर्देशित एफएनएसी, बायोप्सी ( गर्दन के ट्यूमर, फेफड़े, स्तन, यकृत, पेट के मांस पिण्ड, हड्डी की विक्षतियाँ आदि)। 

(2) चिकित्सीय प्रक्रिया

(a) नॉन वॉस्कुलर इन्टरवेंशन:

●    कैथेटर ड्रेनेजेस/एस्पिरेशन्स। 

●    स्टेंटिंग के साथ पीटीबीडी/पीसीएन। 

●    ट्यूमरों का आरएफए/माइक्रोवेव एब्लेशन।

●    नर्व ब्लाक्स/फैसेट ज्वाइंट इंट्रा-आर्टिकुलर इंजेक्शन।

(b) वॉस्कुलर इन्टरवेंशन:-

●    शिरापरक / धमनी कैथेटर प्लेसमेंट और इंफीरियर वेना केवा (आईवीसी) फ़िल्टर प्लेसमेंट। 

●    इंट्रावास्कुलर थ्रोम्बोलिसिस। 

●    ट्यूमरों का एम्बोलाइजेशन (TACE, TARE, TAE) और रक्तस्राव के बिन्दुओं का एम्बोलाइजेशन। 

●    एन्यूरिज्म / स्यूडो-एन्यूरिज्म, का एम्बोलाइजेशन/क्वाइलिंग, गर्भाशय एवीएम और हेमोप्टीसिस में ब्रोन्कियल धमनी का एम्बोलाइजेशन। 

●    हेपेटिक वीनस प्रेशर ग्रेडिएंट (MVPG), ट्रांस-जुगुलर लिवर बायोप्सी (TJLB), TIPS (BRTO).

इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी (IR) रेडियोलॉजी की एक ऐसी उप-विशेषता है जिसमें सटीक निदान और उपचार के लिए छवि-निर्देशित, न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रियाएं उपयोग की जाती हैं। इंटरवेंशनल रेडियोलॉजिस्ट एक ऐसा चिकित्सक होता है जो शरीर के विभिन्न अंगों और रक्त वाहिकाओं तक पहुंच प्राप्त करने के लिए छवि मार्गदर्शन और विशेष प्रक्रियाओं का उपयोग करता है। मणिपाल   हॉस्पिटल में दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ कुशल इंटरवेंशनल रेडियोलॉजिस्ट हैं। 

प्रक्रियायें:

दाता / प्राप्तकर्ता रोगियों के यकृत और किडनी का प्रत्यारोपण पूर्व और प्रत्यारोपण के उपरान्त नियमित रूप से मूल्यांकन किया जाता है। 

●    सर्जरी से पहले हृदय के गंभीर मामले सहित गंभीर मामलों में सर्जरी पूर्व मूल्यांकन / योजना निर्माण का कार्य किया जाता है।

●    प्रोस्टेट और स्तन कैंसर के मूल्यांकन के लिए। मल्टीपैरामीट्रिक एमआरआई।

●    अनावश्यक सर्जरी से बचने के लिए, फंक्शनल एमआर और डीटीआई के माध्यम से केन्द्रीय मस्तिष्क विक्षतियों का सर्जरी से पहले मूल्यांकन। 

●    बिना किसी परेशानी के स्वास्थ्य लाभ हेतु विंडो पीरियड में स्ट्रोक रोगी का आकलन।

●    कोरोनरी सीटी एंजियोग्राफी और पेरिफेरल वासकुलर सीटी एंजियोग्राफी। 

●    डीवीटी इमेजिंग प्रोटोकॉल के भाग के रूप में पल्मोनरी एंजियोग्राफी और पेरिफेरल सीटी वेनोग्राम। 

●    सीने में दर्द के रोगियों में ट्रिपल रूल आउट के लिए सीटी एंजियोग्राम। 

●    एमडीसीटी यूनिट के माध्यम से वर्चुअल ब्रोंकोस्कोपी और वर्चुअल कॉलोनोस्कोपी के लिए सुविधाएँ। 

●    उच्च जोखिम वाले व्यक्ति में फेफड़ों के कैंसर के लिए विकिरण की कम मात्रा वाली जांच सुविधा। 

उल्लेखनीय मामले:

●    यह विभाग, सफल उपचार के लिए चिकित्सा की योजना बनाने (सर्जरी, रेडियोथेरेपी और हस्तक्षेप प्रक्रियाओं) हेतु कई गंभीर मामलों का नियमित मूल्यांकन कर रहा है। 

●    कार्डियक सर्जरी से पहले एओर्टिक रूट एन्यूरिज्म के गंभीर मामले। 


●    एओर्टिक सर्जरी और उसके बाद अवरोही वक्ष महाधमनी की स्टेंटिंग, से पहले थोरैसिक महाधमनी धमनीविस्फार का जटिल मामला। 

●    तीव्र अग्न्याशयशोथ के बाद ऊपरी जठरांत्र मार्ग में रक्तस्राव की समस्या के साथ प्लीहा धमनी/ जठर-ग्रहणी धमनी की धमनी स्फीति के गंभीर मामले। इन बिंदुओं को विभाग में सफलतापूर्वक स्टेंट/कॉइल किया गया था। 

व्यापक चिकित्सा देखभाल प्राप्त करने के लिए। दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी   हॉस्पिटल पर जाएं या द्वारका, दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ रेडियोलॉजिस्ट  से परामर्श प्राप्त करें। 

 

FAQ's

A specialist will first gather general information about the patient's health, review their medical history, and conduct a physical examination. Based on the findings, further treatment or diagnostic procedures are recommended.

If done properly, there is no recurrence of disease at all.

Very safe compared to surgical procedure.

MRI can accurately localize the brain lesion as well as various motor / sensory tracks in the brain by DTI /tractography and helps neurosurgeon to avoid damaging these vital tracks during surgery. 

The doctor or physician will discuss your symptoms and prescribe tests for further diagnosis.

Yes, it is very safe during pregnancy being a non-ionizing imaging modality.

 

Low dose CT scan can detect very small lung lesions (less than 1 cm) with minimal radiation to the body, hence helpful for diagnosis of lung cancer in very early stage. 

These are two separate examinations with different objectives. CT angiogram is non-invasive and done in a CT scanner. Whereas a catheter angiogram is an invasive procedure. CT angiogram depicts coronary vessels nicely with visualization of calcified/non-calcified plaques and has a very high negative predictive value (95-100 %). Hence this examination is more suitable to rule out coronary artery disease non-invasively. 

Not exactly. In a healthy patient with normal renal function, contrast is not harmful to the body, because the contrast is excreted through the kidneys within 24 hours. In a patient with poor renal function, the contrast is accumulated in the body and is harmful and may damage the kidneys further. To know more, you can seek medical help from Best Radiology Specialist In Delhi or CT Scan Centers in Delhi. 

Digital X-ray provides more clear images with significantly reduced radiation to the patient compared to conventional X-ray. Get in touch with the Top X-ray Hospital in Delhi - Manipal hospitals. 

No. X-ray has radiation hazard and is dangerous to the growing foetus in the womb.

It is used to examine structures in the brain, pelvis, legs, kidneys, neck, heart and abdomen. It is also used to examine blood vessels.

Clots, tumors, lumps, cirrhosis of the liver, internal bleeding of organs are a few of the common disorders that require immediate radiological testing.

Most radiology tests are minimally invasive and not painful. In the case of a painful the procedure, the patient may be given local or general anesthesia depending on the procedure involved.

Equipment used include x-ray tubes, radiographic tables, monitors and image intensifiers.

Radiology tests are mostly accurate but sometimes doctors may need to prescribe further tests to be sure of a diagnosis. At Manipal, we ensure accuracy in radiological testing.

The nurse or technologist will insert the IV line into a vein in the hand or arm. Small amount of blood is taken before the procedure begins and a sedative is provided. When the catheter has to be inserted, local anaesthesia is given to the patient to avoid pain. The catheter is inserted into a mall slit and guided through the arteries to areas that need to be examined.

Yearly health check-ups will help you avoid facing severe health conditions in the future. We believe that prevention is better than cure. Kindly visit your doctor for a full body checkup at least once a year

Annual health checkups and discussions with your doctor about risk factors and preventive methods should never be overlooked. It is important to get regular checkups to maintain good health.

Appointment
Health Check
Home Care
Contact Us
Write to COO
Review Us
Call Us