नेफ्रोलॉजी


पसलियों के नीचे स्थित गुर्दों की एक जोड़ी आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करने, शरीर के इलेक्ट्रोलाइट संतुलन, रक्तचाप, आदि को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण अंग हैं। गुर्दे की कार्यप्रणाली की निरंतर हानि होते जाने से गुर्दे का रोग हो जाता है। नेफ्रोलॉजी चिकित्सा की एर ऐसी विशेषता है जो गुर्दे की बीमारियों के प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करती है। नेफ्रोलॉजिस्ट ऐसे डॉक्टर होते हैं जो गुर्दे की बीमारियों के निदान और उपचार के विशेषज्ञ होते हैं।

OUR STORY

Know About Us

Why Manipal?

  • मणिपाल अस्पताल दिल्ली का सबसे अच्छा नेफ्रोलॉजी अस्पताल है, गुर्दे की बीमारियों से पीड़ित रोगियों को व्यापक मूल्यांकन और उपचार प्रदान करने के लिए इसका नेफ्रोलॉजी विभाग 2018 में लॉन्च किया गया था।
  • हमारे पास दिल्ली में उच्च योग्य और सर्वश्रेष्ठ नेफ्रोलॉजिस्ट हैं जो गुर्दे से संबंधित रोगों से पीड़ित रोगियों का उपचार करने में सक्रिय और दत्तचित्त रहकर कार्य करते हैं।
  • द्वारका में मणिपाल अस्पताल सबसे अच्छा नेफ्रोलॉजी अस्पताल है, हम विशेषज्ञों की गुणवत्ता के साथ रोगी की व्यक्तिगत जरूरतों पर केंद्रित उपचार प्रदान करना सुनिश्चित करते हैं।
  • हम रोगी की जरूरतों को पूरा करने और गुर्दे की बीमारी के इलाज से जुड़ी सभी चिंताओं को दूर करने के लिए कुशलतापूर्वक सभी स्थितियों को व्यक्त करने और सहानुभूति बनाए रखकर उपचार प्रदान करने में विश्वास करते हैं।
  • हम गुर्दे की बीमारी को रोकने और प्रारंभिक अवस्था में ही उसका निदान और उपचार करने में सहायता करने के लिए अपने रोगियों के साथ मिलकर काम करते हैं।

Treatment & Procedures

ট্রান্সপ্ল্যান্ট মেডিসিন

ট্রান্সপ্ল্যান্ট মেডিসিন নেফ্রোলজির এই বিভাগে কিডনি ট্রান্সপ্ল্যান্ট নিয়ে কাজ করা হয় যা কিডনির অসুখের চূড়ান্ত পর্যায়ে থাকা রোগীদের মধ্যে জনপ্রিয়তা লাভ করছে। মনিপাল হসপিটাল কেন বেছে নেবেন নিজেদের ক্ষেত্রে সর্বোচ্চ দক্ষতাসম্পন্ন, অসাধারণ নেফ্রোলজিস্ট ও ইউরোলজিস্ট দ্বারা সমর্থিত এই নেফ্রোলজি বিভাগ এক সক্রিয় বহুবিভাগীয় পদ্ধতিতে জটিল কিডনি ট্রান্সপ্ল্যান্ট…

Read More

हेमोडायलिसिस

यह एक सिंथेटिक प्रक्रिया है जिसमें डायलिसिस मशीन का उपयोग करके आपके रक्त को फिल्टर करने, अपशिष्ट और जल का बाहर निकाले का कार्य किया जाता है। यह प्रक्रिया शरीर में गुर्दे की बिगड़ी हुई कार्यप्रणाली ठीक करने में सहायता करती है और इस प्रक्रिया को आमतौर पर तब तक अपनाया जाता है जब अंतर्निहित बीमारी के लिए रोगी का उपचार किया जाता है, या जब तक गुर्दा दान…

Read More

ट्रांसप्लांट मेडिसिन

ट्रांसप्लांट मेडिसिन नेफ्रोलॉजी की यह विशेषज्ञता गुर्दा प्रत्यारोपण से संबंधित होती है जो गुर्दे के अंतिम चरण के रोग से पीड़ित रोगियों के बीच लोकप्रिय होती जा रही है। मणिपाल हास्पिटल्स को क्यों चुनें? अपने विशिष्ट डोमेन में उत्कृष्टतम योग्यता वाले नेफ्रोलॉजिस्ट और उच्चतम क्षमतासंपन्न यूरोलॉजिस्ट के बल पर हमारी नेफ्रोलॉजी यूनिट जटिल गुर्दा प्रत्यारोपण…

Read More

गुर्दे की बायोप्सी

संक्षिप्त विवरण: गुर्दे की बायोप्सी में विशेष सूक्ष्मदर्शी से देख कर निरीक्षण करने के लिए आपके गुर्दे से एक या एक से अधिक छोटे नमूने लिए जाते हैं। o इस प्रक्रिया से पहले 4 घंटे तक बिना कुछ खाए रहना होता है। o आपका रक्तचाप सामान्य सीमा के भीतर होना चाहिए। o आपको अपने द्वारा वर्तमान में ली जाने वाली सभी दवाओं के बारे में अपना आपरेशन करने वाले डॉक्टर…

Read More

गुर्दे की बायोप्सी

यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें प्रयोगशाला परीक्षण के लिए शल्य चिकित्सा द्वारा गुर्दे का छोटा टुकड़ा निकाला जाता है। बायोप्सी का उपयोग मुख्य रूप से कैंसर के परीक्षण के लिए किया जाता है, लेकिन यह गुर्दे की बीमारी के अन्य रूपों का पता लगाने या पुष्टि करने में भी प्रभावी होता है। इस बायोप्सी को न्यूनतम इनवेसिव विधियों के माध्यम से किया जा सकता है, हालांकि…

Read More

एबीओ इन्कॉम्पटिबल और पैयर्ड एक्सचेंज…

एबीओ असंगत और पैयर्ड एक्सचेंज ट्रांसप्लांटेशन कभी-कभी कोई सुसंगत गुर्दा दाता खोजना असंभव होता है। गुर्दा प्रत्यारोपण की अत्यावश्यकता बढ़ जाने पर आपातकालीन मामलों में एबीओ इन्कॉम्पटिबल गुर्दा प्रत्यारोपण की आवश्यकता हो सकती है। इस प्रक्रिया में, आपके गुर्दा दाता का रक्त प्रकार और आपका रक्त प्रकार संगत नहीं होता है, इसलिए आपके रक्त में एंटीबॉडी के स्तर…

Read More

गुर्दा प्रत्यारोपण

इस प्रक्रिया में मृत या जीवित दाता से एक स्वस्थ गुर्दा लिया जाता है और इसे ऐसे रोगी में प्रत्यारोपित किया जाता है जिसके गुर्दे ने काम करना बंद कर दिया हो। यदि शरीर में गुर्दे काम नहीं करते तो शरीर में अपशिष्ट और तरल पदार्थ हानिकारक मात्रा में जमा हो जाते हैं जिससे जीवन के लिए खतरा पैदा हो जाता है। प्रत्येक व्यक्ति के शरीर में दो गुर्दे होते हैं, और…

Read More

स्वैप गुर्दा प्रत्यारोपण

स्वैप गुर्दा प्रत्यारोपण ‘पेयर्ड किडनी एक्सचेंज’ जिसे ‘किडनी स्वैप’ भी कहा जाता है, तब होता है जब जीवित गुर्दा दाता का गुर्दा प्राप्तकर्ता से मेल नहीं खाता है और ऐसी स्थिति में किसी अन्य दाता/प्राप्तकर्ता के पेयर से गुर्दों का एक्सचेंज किया जाता है। इसका अर्थ है कि दो जीवित दाता प्रत्यारोपण एक साथ किए जाएंगे। स्वैप ट्रांसप्लांट में आमतौर पर दो परिवारों…

Read More

कम्बाइन्ड लिवर एंड गुर्दा प्रत्यारोपण…

कम्बाइन्ड लिवर एंड गुर्दा प्रत्यारोपण (सीएलकेटी) सिरोसिस और गुर्दे की संबंधित बीमारियों से पीड़ित रोगियों के लिए नियमित रूप से सीएलकेटी का आपरेशन किया जाता है। इनमें से अधिकांश रोगियों को पैरेन्काइमल गुर्दा रोगों के कारण चिरकालिक रीनल फेल्योर होता है, ज्यादातर मामलों में यह अल्कोहल संबंधित सिरोसिस, चिरकालिक हेपेटाइटिस बी या सी संक्रमण, या गुर्दा प्रत्यारोपण…

Read More

नवजात और बाल चिकित्सा सीआरआरटी…

नवजात और बाल चिकित्सा सीआरआरटी प्रक्रिया

गंभीर रूप से बीमार बाल रोगियों के साथ-साथ गुर्दे की गंभीर क्षति और चयापचय की जन्मजात त्रुटियों वाले नवजात रोगियों के लिए कंटीन्यूअस रीनल रिप्लेसमेंट थेरेपी (सीआरआरटी) पसंद किया जाने वाला उपचार बनता जा रहा है।

Read More

लैप्रोस्कोपिक डोनर नेफरेक्टोमी

लैप्रोस्कोपिक डोनर नेफरेक्टोमी गुर्दा निकालने के लिए ट्रांसवेजिनल रूट (टीवीई), लैप्रोस्कोपिक डोनर नेफरेक्टोमी के दौरान आधुनिक सर्जिकल विकल्प के रूप में उभरा है ताकि आपरेशन के बाद शरीर पर बनने वाले निशान कम बनें और आपरेशन के बाद कम से कम दर्द होने के साथ ही साथ शारीरिक सुंदरता बनी रहने के लाभ भी प्रदान किया जा सकें। योनि मार्ग का उपयोग किए जाने से पेट…

Read More

क्रिटिकल केयर नेफ्रोलॉजी

क्रिटिकल केयर नेफ्रोलॉजी (एक्यूट केयर नेफ्रोलॉजी) एक्यूट किडनी इंजरी (AKI) ऐसा गंभीर रोग है जो लाखों लोगों को प्रभावित करता है। एक्यूट किडनी इंजरी (AKI) के अधिकांश मामले, आमतौर पर अस्वस्थ रोगी में गुर्दे में रक्त के प्रवाह में कमी के कारण होते हैं। रक्त प्रवाह का कम होना अत्यधिक उल्टी या दस्त के कारण होने वाले गंभीर निर्जलीकरण या रक्तस्राव होने के…

Read More

.

Facilities & Services

.

FAQ's

After gathering general information about your health from you, your nephrologist will review your medical history, and do a complete physical examination. Then he might order blood and urine tests to determine the functioning of your kidneys.

The most important risk factors for kidney diseases include:

  • Diabetes Mellitus 

  • Hypertension / high blood pressure

  • Cardiovascular disease (CVD) / heart disease

  • Smoking and drinking alcohol

  • Overweight/obesity

  • Family history of kidney failure

  • Overuse of pain medications.

Dialysis is used to treat patients with kidney failure. It is a machine that filters and purifies your blood as well as maintains fluid and electrolyte balance. 

 

Kidneys are a pair of organs that are situated on either side of the spine. They play a vital role in performing the following functions such as:

  • Purifies the blood by removing harmful and toxic waste products from the body. 

  • Maintains a healthy balance of water and minerals so that the nerves, muscles, and tissues may work normally.

  • Regulates important electrolytes including sodium, potassium, calcium, and phosphorus.

  • Regulates acid/base balance. 

  • Controls blood pressure

  • Produces red blood cells and prevents anemia

  • Keeps your bones healthy.

To know more, visit the best kidney hospital in Delhi.

There are two major types of kidney failure:

  • Acute Kidney Injury (AKI): This condition happens suddenly within a span of a few days and is generally reversible with timely detection and appropriate treatment.

  • Chronic Kidney Disease (CKD): This condition generally develops over years and if the patient progresses to end-stage renal failure, treatment options are long-term maintenance dialysis or a kidney transplant. 

Thus, timely detection and appropriate screening for kidney disease is of paramount importance in preventing the progression of the disease. Get the finest treatment at the best kidney care hospital in Delhi

A nephrologist is a doctor who specializes in the diagnosis and management of patients suffering from kidney diseases. A nephrologist is trained in the management of dialysis patients as well as efficiently handles kidney transplant patients. Get a consultation with a nephrologist at the kidney hospital in Delhi.

It is responsible for the diagnosis and treatment of the disorders of the renal system such as:

  • Protein in the Urine

  • Blood in the urine

  • A renal failure such as acute and chronic

  • Kidney disease

  • Kidney stones

  • Kidney infections

  • Polycystic kidney disease

  • Cardiorenal syndrome (CRS)

  • Hepatorenal problems (Liver and Kidney)

  • Systemic lupus erythematosus (SLE)

  • Nephrotic syndrome

  • End-stage kidney disease

Get the top treatment at the best nephrology hospital in Delhi.

Kidneys are responsible for the removal of waste from the body by filtering the body's blood and producing urine. But in a circumstance of Kidney failure, the kidney loses 85 to 90% of its functionality, leading to the need for dialysis, which will filter the blood for waste, salt, and extra water. Visit the top kidney hospital in Delhi to know more about it.

Also called ESRD, end-stage renal disease is the last stage of chronic kidney disease. When kidneys fail, it means it has stopped working, and the patient needs dialysis or a kidney transplant to survive. If it is acute meaning temporary can be corrected in most instances.

Patients with chronic irreversible kidney disease who do not respond to any medical treatments, and are either on dialysis or would need dialysis will be eligible for a kidney transplant.

Explore Stories

Blogs

Call Us